कट्टरपंथियों का ऐतिहासिक गोरखनाथ मंदिर पर हमला : पाकिस्तान

Published: Monday, May 21,2012, 17:28 IST
Source:
0
Share
gorakhnath temple in pakistan, gorakhnath temple, pakistan, hindu temple, Vandalism, Peshawar High Court,

इस्लामाबाद, पाकिस्तान में फ़िर एक बार हिंदू मंदिर को निशाना बनाया गया है। पेशावर शहर स्थित ऐतिहासिक हिंदू मंदिर पर रविवार की शाम अज्ञात लोगों ने हमला किया और उसे तहस नहस कर डाला। गोरखनाथ मंदिर के नाम से मशहूर 160 साल पुराने इस मंदिर को पेशावर हाई कोर्ट के आदेश पर तीस सालों बाद पिछले ही साल फिर से खोला गया था। देश के विभाजन के बाद से तब तक यह मंदिर बंद पड़ा था।

पुलिस ने बताया कि हमलावरों ने मंदिर में लगी तस्वीरों को जला दिया और मंदिर के अंदर स्थापित शिवलिंग को क्षतिग्रस्त कर दिया। वे गोर गथरी इलाके के पुरातात्विक परिसर में स्थित इस मंदिर की कुछ मूर्तियां भी उठा ले गए। मंदिर के संरक्षक ने मीडिया को बताया कि पिछले दो महीने में मंदिर पर यह तीसरा हमला है। उसने अनुसार, शाम साढ़े छह बजे जब वह मंदिर पहुंचा तो मंदिर के अंदर आठ लोगों का एक समूह था। उन लोगों ने भागने से पहले मंदिर में लगी तस्वीरें और धार्मिक पुस्तकें जला दीं। इसके बाद अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय के लोग मंदिर पर पहुंचे।

टीवी फुटेज में जले हुए कागज और फर्श पर बिखरे बर्तन दिखाई दे रहे हैं। पुलिस अधिकारियों ने मंदिर के अंदर जाकर जांच की। हिंदू नेताओं ने पुलिस से मंदिर की पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था करने का आग्रह किया है ताकि ऐसी घटनाएं रोकी जा सकें। पाकिस्तान में हिंदूओ पर आये दिन इस तरह के अत्याचार होते रहते है। बहुत बार हिंदू मंदिरों को निशाना बनाकर उसकी तोडफ़ोड की जाती है। हिंदू लडकियों का अपहरण कर के उनका जबरन धर्मपरिवर्तन कराया जाता है।

हाल ही में रिंकल कुमारी नामक लडकी के जबरन धर्मपरिवर्तन की घटना सामने आयी थी। दुर्भाग्य की बात ये है कि हिंदूओ के साथ हो रही इस नाइंसाफ़ी को स्थानिक प्रशासन और पाकिस्तान सरकार अनदेखा कर रही है।

# बढ़ रहे हैं हिन्दुओं पर अत्याचार : मानवाधिकार रिपोर्ट
# मायाराज में नहीं मिली हिन्दू शरणार्थियों को शरण, कड़कड़ाती सर्दी में छोड़ दिया
# अमेरिका में भूटानी शरणार्थियों की सेवा के लिए मिला मानवता पुरस्कार
# अब अमरनाथ यात्रा के दिनों में कटौती के आदेश, केवल ३९ दिन की अनुमति

न्यूज़ भारती

??

Comments (Leave a Reply)