भारत स्वाभिमान के युवा प्रभारी ने गौ माता एवं दो बछड़ों को बचाया

Published: Tuesday, Oct 25,2011, 14:06 IST
Source:
0
Share
भारत स्वाभिमान, विकास दीक्षित, खुर्जा, राष्ट्र वंदना मिशन, गौरक्षक दल, गौशाला, पुलिस स्टेशन, IBTL

भारत स्वाभिमान के युवा प्रभारी विकास दीक्षित १९ अक्टूबर को कोई ग्राम शिविर न होने के कारण अपने घर से योग करने के लिए सुबह पांच बजे निकट के उद्यान में जा रहे थे उन्हें वहाँ गाय के रंभाने की आवाज़ सुने दी जिसे सुन उन्होंने उस आवाज़ का पीछा किया तो देखा की एक व्यक्ति एक वयस्क गौमाता एवं दो मादा बछड़ों को हांक कर बलपूर्वक ले जा रहा था |

यह देख वह अकेले ही उससे जाकर पूछने लगे कि वह उन्हें कहाँ ले जा रहा है एवं इस बात पर दोनों में जोर जोर से बहस होने लगी जिसे सुनकर उनके पड़ोसी जागकर बाहर आगये और संख्याबल बढते देखकर वह व्यक्ति भाग गया विकास दीक्षित ने उन दो मादा बछड़ों को तो पकड़ लिया परन्तु गाय उनके पकड़ में न आ सकी विकास दीक्षित ने उन दो बछड़ों को अपने घर पर रख लिया एवं गाय उनके घर के आस पास अपने बछड़ों के लिए मंडराती रही उसे पकड़ने की विकास दीक्षित के परिवारजन का हर प्रयास असफल रहा एक दिन दोपहर में वही लोग फिर वापिस आये और गाय को पकड़ कर ले गए इसकी शिकायत पुलिस में करने पर कुछ ऐसे लोगों को गिरफ्तार किया गया तो हैरान कर देने वाली सूचनाएं सामने आयीं |

खुर्जा बहुत से अवैध कट्टीखाने हैं जिनमें में अवैध रूप से गौमाता का कटना जारी है एवं इस धंधे में शामिल लोग आवारा गौवंश पर एक प्रकार का निशान दाग देते हैं एवं कुछ लड़के उसके पीछे लगा देते हैं जो कि इन गौवंश का पीछा करते हैं एवं हरे चारे से इन्हें ललचाकर इन्हें पकड़ लेते हैं एवं कुछ सप्ताह तक इन्हें जंगल व घास के मैदान में खिलापिला कर तगड़ा कर इन्हें काट दिया जाता है और इस कार्य के बदले में उन्हें प्रति गाय २०० रु मिलते है एवं यह कार्य लम्बे समय से चलता जा रहा है जैसे ही यह सुचना शहर में फैली वैसे ही खुर्जा पुलिस स्टेशन में बहुत से सफेदपोशों के फोन पुलिस स्टेशन में आने प्रारंभ हो गए |

अब भारत स्वाभिमान ट्रस्ट कुछ संस्थाओं के साथ मिलकर खुर्जा कत्लखानों के विरूद्ध एक बड़ा आंदोलन छेड़ने की तैय्यारियो में जुटी हुई है जिसमें उन्हें बहुत से संगठनों का सहयोग मिल भी चुका है एवं भारत स्वाभिमान ट्रस्ट, राष्ट्र वंदना मिशन, गौरक्षक दल ने मिल कर खुर्जा में एक गौशाला का निर्माण कार्य की योजना पर भी कार्य करना प्रारंभ कर दिया है जिसमें वे वृद्ध गौमाता का पालन पोषण किया जायेगा जो वृद्ध होने के कारण कसाइयों को बेच दी जाती हैं

IBTL

Comments (Leave a Reply)