माया सरकार के खिलाफ अब कांग्रेस की चार्जशीट

Published: Monday, Oct 17,2011, 11:26 IST
Source:
0
Share
दीपावली, राहुल गांधी, केंद्रीय मंत्री, दिग्विजय सिंह, जनलोकपाल, मनमोहन सिंह, Diwali, Rahul Gandhi, Central Minister, Janlokpal, Manmohan Singh

लखनऊ कांग्रेस दीपावली के बाद युद्धस्तर पर प्रचार अभियान शुरू करने के साथ ही बसपा सरकार के खिलाफ चार्जशीट तैयार करेगी। जिसे फरवरी में प्रस्तावित लखनऊ की महारैली में पेश किया जाएगा। यही नही राज्य में कांग्रेस महामंत्री राहुल गांधी और केंद्रीय मंत्री सघन दौरा कर कांग्रेस की फिजा बनाएंगे। प्रदेश प्रभारी दिग्विजय सिंह ने रविवार को पत्रकार वार्ता में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पक्ष में चुनावी हवा बनाने के लिए प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की सभाएं भी होगी। उन्होंने कहा कि यदि डाक्टरों ने इजाजत दी तो सोनिया गांधी भी सभा करेंगी। मुख्यमंत्री मायावती के सरकारी धन से अपनी व परिवारीजनों की मूर्तियां लगाने पर आपत्ति करते हुए उन्होंने कहा कि बसपा के तमाम भ्रष्ट कारनामों की शिकायतें एकत्रित कर चार्जशीट तैयार कराई जाएगी।

फरवरी में लखनऊ की महारैली में उसे जनता के समक्ष प्रस्तुत कर इसका ज्ञापन राज्यपाल को सौंपा जाएगा। एक सवाल के जवाब में दिग्विजय सिंह ने कहा कि कांग्रेस में टिकट वितरण को लेकर कोई असंतोष जैसी बात नहीं है। हां, कुछ स्थानों पर मामूली विवादों की सूचना है।जिन्हें जल्द ही निपटा दिया जाएगा। उन्होंने आरोप लगाया कि मतदाता सूचियों में गड़बड़ी की बड़े स्तर पर शिकायतें मिल रही है। 14-15 वर्ष के किशोरों के नाम भी वोटर लिस्ट में दर्ज करा दिए गए हैं वहीं, मतदाता सूची से तमाम मुहल्ले ही गायब है।

मतदाता को नाम कटने की जानकारी वोट डालते समय मिलती है। इस बारे में चुनाव आयोग से मिलकर कांग्रेस मतदाता सूचियों को दुरुस्त करने की मांग करेगी। कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने सूचना के अधिकार अधिनियम में किसी भी बदलाव से इंकार करते हुए कहा कि सच्चर समिति की अधिकांश संस्तुतियों पर काम शुरू हो चुका है। उन्होंने मदरसों की स्वायतता में दखल पर रोक लगाने के लिए शिक्षा का अधिकार कानून में बदलाव की पैरोकारी की। बताया कि आरक्षण सुविधा का लाभ कुछ जातियों तक सीमित रहने के कारण सरकार अतिपिछड़ी जातियों के लिए आयोग गठन पर विचार कर रही है। अन्ना हजारे के मौन अनशन पर टिप्पणी करते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि कश्मीर मुद्दा व येद्दयुरप्पा की गिरफ्तारी के सवालों से बचने को ही ऐसा निर्णय लिया होगा।

जनलोकपाल को लेकर संसद उनकी अधिकांश मांगे मान चुकी है ऐसे में थोड़ा इंतजार भी करना चाहिए। कश्मीर को लेकर प्रशांत भूषण के बयान को गलत करार देते हुए उन्होंने कानूनी कार्रवाई की संभावना तलाशने की बात भी कही। अन्ना और राहुल की मुलाकात के सवाल पर उन्होंने अनभिज्ञता जाहिर की। कांग्रेस महासचिव ने माना कि हिसार उप चुनाव में कांग्रेस कमजोर है। वहां की जीत हार को किसी आह्वान से नहीं जोड़ा जाना चाहिए।

Comments (Leave a Reply)