आतंकी संगठन के पक्ष में आपत्तिजनक नारों से माहौल गरमाया : मेरठ

Published: Saturday, Jul 07,2012, 14:12 IST
Source:
0
Share
IM, indian mujahiddin, merrut, muslims, azam khan, terrosit roganisation, merrut riot,

सोतीगंज में बवाल शुरू होते ही एक संप्रदाय के लोगों ने सड़कों पर एक आतंकी संगठन के पक्ष में नारे लगाते हुए पूरा रास्ता रोक दिया। इस तरह आतंकी संगठन के नारे लगाने की घटना पर व्यापारियों ने सवाल उठाया और उसे अपनी सुरक्षा को खतरा बताया। दूसरी ओर पुलिस कार्रवाई करने की जगह शब ए बारात की वजह से मामले में खानापूरी करती रही।

बकौल रणजीत सिंह शाम पांच बजे यूनुस की दुकान पर बातचीत के दौरान बुल्लन, वहीद और लड्डू ने उन्हें धमकी देते हुए कहा मकान और होटल छोड़कर भाग जाने और ऐसा नहीं करने पर गोलियों से भूनने की धमकी दी।
इसके बाद सड़क पर एक आतंकी संगठन के पक्ष में नारे लगाए गए। वाहनों में तोड़फोड़ करते हुए सड़क पर बवाल काटा गया। रणजीत सिंह और व्यापारियों ने पूरी घटना आला अधिकारियों को बताई, जिसके बावजूद पुलिस ने कोई गिरफ्तारी नहीं की। कई हिंदू संगठनों और व्यापार मंडल के सदस्यों ने किसी भी आतंकी संगठन के जिंदाबाद के नारे लगाए जाने को शहर की सुरक्षा को खतरा बताया। आरोप लगाया कि शहर में गुपचुप तरीके से आतंकी गतिविधियों को अंदरखाने पनाह दी जा रही है और जानकारी के बावजूद पुलिस कार्रवाई करने की जगह खानापूरी में लगी है। बुधवार शाम की घटना के बाद भी पुलिस का हीला हवाली वाला रवैया जारी रहा। पहले थाने में और बाद में कप्तान आवास पर बैठकों का दौर चलता रहा, लेकिन किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी का प्रयास नहीं किया गया।

घर में महिलाओं पर हुआ हमला : एसएसपी और सीओ मनीषा सिंह से बातचीत के दौरान रणजीत सिंह की पत्‍‌नी राजेंद्र कौर ने बताया कि सैकड़ों युवकों ने उनके घर पर हमला कर दिया और दरवाजा तोड़ने का प्रयास किया। डर के मारे वह मकान की ऊपरी मंजिल पर जा चढ़े। चाकू, हॉकी ,डंडों और तलवारों से लैस युवकों ने मकान में आग लगाने तक का प्रयास किया, लेकिन इसी दौरान पुलिस पहुंच गई और उन्हें खदेड़ दिया। परिवार की सुरक्षा पर सवाल उठाते हुए राजेंद्र कौर ने अधिकारियों की कार्रवाई को नाकाफी बताया।

व्यापारियों ने रोड पर लगाया जाम : पुलिस ने शाम करीब सात बजे मामला शांत करा दिया था और स्थिति काबू में थी। इसी दौरान सिख समुदाय के कुछ व्यापारी जमा हुए और सिंह होटल पर हंगामा व नारेबाजी शुरू कर दी। दोबारा से आक्रोश भड़क गया और लोगों ने नारेबाजी शुरू करते हुए सड़क जाम कर दी। किसी तरह से व्यापारी नेताओं ने समझा बुझाकर उन्हें शांत कराया और जाम खुलवाया। कप्तान से बातचीत के दौरान व्यापारियों ने बताया कि बुल्लन के खिलाफ थाने में पूर्व में कई मामले दर्ज हैं।

इन्होंने कहा... फ्रिज और वाटर कूलर रिपेयरिंग को लेकर विवाद हुआ था। इसमें सिख समुदाय के लोगों ने आठ लोगों को नामजद करते हुए 20-25 अज्ञात के लोगों के खिलाफ तहरीर दी है। बवाल और तोड़फोड़ व अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारी की जाएगी। दूसरे पक्ष ने भी तहरीर दी है। कुछ लोग आतंकी संगठन के पक्ष में नारेबाजी की बात कहकर माहौल को गरमाने का प्रयास कर रहे थे। इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
के.सत्यनारायण, एसएसपी मेरठ, जागरण संवाददाता, मेरठ

Comments (Leave a Reply)