स्वामी अल्पसंख्यक आरक्षण के विरोध में, कहा सोनिया की आदर्श-बहू छवि से रहे सावधान

Published: Friday, Feb 10,2012, 11:38 IST
Source:
0
Share
अल्पसंख्यक आरक्षण, सोनिया की आदर्श-बहू छवि, Manmohan, swamy against sonia, hindutva, hindu army, ram mandir, ayodhya, swamy news, IBTL

जयपुर. जनता पार्टी अध्यक्ष सुब्रमण्यम स्वामी ने हमेशा की तरह सभा शुरू की | उन्होंने कहा कि स्पेक्ट्रम घोटाले मामले में मैंने मनमोहन सिंह से 2G के बारे में पूछा लेकिन उन्हें कुछ भी पता नहीं था। मनमोहन तो केवल दो ही जी समझते हैं राहुल जी और सोनिया जी। बाकी उन्हें कुछ समझने की जरूरत भी नहीं है। उन्‍होंने कहा कि आज मुसलमानों को आरक्षण देने की पैरवी की जा रही है, यह बताकर कि वे गरीब हैं। क्या ब्राह्मण, क्षत्रिय गरीब नहीं हैं? इस देश में एससी एसटी को छोड़कर किसी को भी आरक्षण नहीं मिलना चाहिए और उन्हें भी केवल एक बार। जिन जातियों ने देश में राज किया है, उन्हें आरक्षण नहीं मिलना चाहिए। यादव, जाट इन्होंने राज किया है। मुसलमानों ने 800 साल राज किया है, इन्हें बिल्कुल भी आरक्षण नहीं देना चाहिए।

इस प्रश्न पर डा. स्वामी ने कहा, " लोग पूछते हैं सोनिया के क्यों पीछे पड़े रहते हो ? " स्वामी कहते हैं कि वह यहां की बहू है और भारतीय संस्कृति के अनुसार उनका पहनावा और आचरण है। मैं कहता हूं कि रावण भी सीता का अपहरण करने भगवा वेश धारण करके आया था इसलिए सोनिया के इस बाहरी आवरण पर मत जाइए।

सुब्रमण्यम स्वामी ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि ग्लोबलाइजेशन ही भ्रष्टाचार का असली जड़ है। इससे लालच पैदा हुआ है लालच में अब येन-केन-प्रकारेण पैसा कमाना प्राथमिकता हो गया है एवं यही कारण है कि बड़े बड़े घोटाले हो रहे हैं। जवाहरलाल नेहरू ने सोवियत मॉडल थोंप कर कोटा और लाइसेंस सिस्टम के जरिए लूट का रास्ता खोला था एवं इसके दुष्परिणाम देखने को मिल रहे हैं। यह सब हमारे सांस्कृतिक जड़ों से कटने के कारण ही हुआ है। भारतीय संस्कृति में धन को अत्यधिक महत्व कभी नहीं दिया गया था।

आगे स्वामी हिंदुत्व की बात करते हुए कहते हैं, " हमें आज अपनी संख्या पर गर्व करने की आवश्यकता नहीं है। संख्या तो बकरियों की भी होती है, हजार बकरियों में एक शेर आ जाता है तो भागेगी तो बकरियां ही। परन्तु कहीं हिंदू सर्कस के सिंह बनकर न रह जाएं। विश्व के समस्त धर्मो की जड़ें हिंदू और हिंदुस्तान में हैं। पत्रकार और चिंतक डॉ. मुजफ्फर हुसैन ने कहा कि आज दुनिया भर में लोग अपनी जड़ों को खोज रहे हैं। सभी धर्मो और सभ्यताओं की जड़ें हिंदू और हिंदुस्तान से जुड़ी हुई है। हमें अपनी जड़ों को खोजना होगा और उनसे जुड़ना होगा। सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि अगर देश का ३५ प्रतिशत हिंदू संगठित होकर एक जगह वोट कर दें तो केंद्र में हिंदू सरकार बन सकती है। लेकिन यह सरकार ऐसी हो जिसमें बेईमान लोग न हो, जिन्हें राम मंदिर बनाने में शर्म न आती हो।

Comments (Leave a Reply)