श्री विवेकानंद महारोगी आरोग्य केन्द्रम्, राजमुंद्री

Published: Friday, Aug 19,2011, 13:54 IST
Source:
0
Share
विवेकानंद महारोगी,

आज भी कई स्थानों पर कुष्ठरोगीयों को समाज से बहिष्कृत किया जाता है| इस स्थिति में यदि परिवार का मुखिया ही कुष्ठरोग से पीड़ित होता है तो वह पूरा परिवार ही इस बहिष्कार का शिकार होता है| ऐसे कुष्ठरोगीयों के उपचार और आवश्यक हो तो, उनके साथ, उनके परिवारों के भी पुनर्वसन का काम श्री विवेकानंद महारोगी आरोग्य केन्द्रम् करता है|

राजमुन्द्री के स्व. डॉ. मंदलविलि मल्लिकार्जुन राव की प्रेरणा से १९७५ में रमेशकुमार जैन और उनके सहयोगीयों ने केन्द्रम् की स्थापना की| तत्कालीन जिल्हाधिकारी ने भी इस काम सहयोग दिया; उन्होंने इस केन्द्रम् के लिए ११ एकड जमीन के साथ अन्य भी सहायता दी| १९७८ में केन्द्रम् का रजिस्ट्रेशन किया गया|

फिर काकिनाडा, राजमुन्द्री और समीपवर्ती गॉंवों के अनेक कार्यकर्ताओं ने कुष्ठरोगीयों को आर्थिक एवं वैद्यकीय सहायता पहुँचाना आरंभ किया और २००२ में राजमुन्द्री के पास, बोम्मुरू गॉंव में श्री विवेकानंद रुग्णालय की स्थापना की गई| बोम्मुरू के समीप के गॉंवो के सैकड़ों परिवार इस रुग्णालय की सेवाओं का लाभ उठा रहे है| उन्हें औषधि भी नि:शुल्क दी जाती है| एक सेवानिवृत्त सिव्हिल सर्जन केन्द्रम् को नि:शुल्क सेवा देते है| यहॉं ऍलोपॅथी के साथ होमिओपॅथी उपचार की भी सुविधा है|

उपक्रम

केन्द्रम् द्वारा कुष्ठरोगीयों को निवास भोजन एवं वैद्यकीय सेवा के साथ जूतें, कपड़े और अन्य आवश्यक चीजें भी दी जाती है| सार्वजनिक वनीकरण के अंतर्गत वाटिका में विविध पौधों का अंकुरण किया जाता है| साथ ही, स्थानीय किसानों के साथ तंबाखू नर्सरी का भी निर्माण किया है| क्वायर बोर्ड ने केन्द्रम् को १३ क्वायर मशीन दी है| इन मशीनों से केन्द्रम् के निवासी नारियल की रस्सीयॉं बनाते है| केन्द्रम् में, बच्चों के लिए बाल संस्कार केन्द्र चलाए जाते है| हिंदूओं के सभी त्यौंहार मनाए जाते है और प्रसंगानुसार सांस्कृतिक और ऐतिहासिक विषयों पर भाषण आयोजित किए जाते है|

केन्द्रम् के सूर्य मंदिरम् सामाजिक सभागृह में सांस्कृतिक एवं आध्यात्मिक कार्यक्रम होते है| गोपाळराव ठाकूर की स्मृति में१९९७ में यह सभागृह बनाया गया है| आरंभ में यहॉं लोग टट्टे की झोपड़ियों में रहते थे| मदत कार्य के अंतर्गत १९८३ में आंध्र प्रदेश सरकार को ५० मकान मिले| २० वर्ष बाद यह मकान जीर्ण हुए तब राज्य सरकार ने इंदिरा आवास योजना के अंतर्गत ४० मकान बनाए| केन्द्रम् की तीन एकड खेती में काम कर कुष्ठरोगी केन्द्रम् को सहायता करते है| यहॉं एक गौशाला भी चलाई जाती है|

संपर्क

श्री विवेकानंद महारोगी आरोग्य केन्द्रम्
बोम्मारू (व्ही), राजमुन्द्री राजस्व मंडल,
जिला : पूर्व गोदावरी, आंध्र प्रदेश, भारत
फोन : ९४४०११२१२५
ई-मेल : editor@hindunagara.co

कैसे पहुँचे

हवाई मार्ग : राजमुन्द्री हवाई अड्डे से हैद्राबाद, विजयवाडा, चेन्नई और अन्य शहरों के लिए नियमित हवाई सेवा|
रेल मार्ग : हावरा-चेन्नई रेल मार्ग पर स्थित| (मुख्य रेल स्थानक विशाखापट्टनम की दूरी साडे तीन घंटे)
सड़क : राष्ट्रीय महामार्ग क्रमांक ५ पर बसा है|

... ...

Comments (Leave a Reply)