गृह मंत्री पद के दुरूपयोग का नया मामला, चिदंबरम पर नई मुसीबत

Published: Friday, Dec 16,2011, 12:50 IST
Source:
0
Share
गृह मंत्री, चिदंबरम, Home Ministry of India, Chidambaram, Dr. Swamy against Chidambaram, Yashwant Sinha, IBTL

२ जी घोटाले में आरोपी बनाने की दहलीज पर खड़े गृह मंत्री चिदंबरम पर अब अपने पद के दुरुपयोग का आरोप लगा है | समूचा विपक्ष तो पहले ही चिदंबरम का बहिष्कार किये बैठा है | उन्हें संसद में बोलने तक नहीं दिया जाता | सुब्रमनियन स्वामी उनके विरुद्ध न्यायालय में लड़ाई लड़ रहे हैं | सीबीआई जो उन्ही के अधिकार में आती है, एक वो चिदंबरम को बचाने के प्रयास कर रही है, परन्तु न्यायालय के आगे इन प्रयासों का लम्बे समय तक ठहर पाना मुश्किल लगता है | और अब एक अंग्रेजी समाचारपत्र की रिपोर्ट के बाद चिदंबरम एक नई मुसीबत में फँस गए है |

समाचार पत्र की रिपोर्ट के अनुसार गृह मंत्री पी. चिदंबरम ने अपने क्लाइंट को फायदा पहुंचाने के लिए पद का दुरुपयोग किया है। चिदंबरम 1999 से 2003 तक मेट्रोपॉलिटन होटल को चलाने वाली कंपनी सुनैर होटल्स और उसके मालिक एस.पी. गुप्ता के वकील रहे थे। इस कंपनी का वीएलएस फाइनैंस लिमिटेड के साथ अभियोग चल रहा था। समाचार के अनुसार वीएलएस फाइनैंस ने ही मेट्रोपॉलिटन होटल के प्रॉजेक्ट को फाइनैंस किया था। प्रलेखों से पता चलता है कि मुंबई धमाकों के बाद गृहमंत्री बने चिंदबरम इस मामले में लगातार रुचि लेते रहे और दिल्ली पुलिस से जाँच की प्रगति के बारे में भी जानकारी मांगते रहे। यहाँ तक के चिदंबरम के मंत्रालय ने दिल्ली पुलिस को एक चिट्ठी लिखकर सुनैर होटल्स के विरुद्ध आपराधिक अभियोगों को वापस लेने के लिए भी कहा ।

पत्र में छपे इस समाचार के बाद राज्यसभा में कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष ने चिदंबरम के मसले को जोर-शोर से उठाया। लोकसभा में भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व वित्त एवं विदेश मंत्री यशवंत सिन्हा ने इस मुद्दे को उठाया। इसके बाद समूचे विपक्ष ने चिदंबरम के त्यागपत्र की मांग की तो सदन की कार्यवाही को दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। राज्यसभा में बीजेपी नेता चंदन मित्रा ने इस मामले पर चर्चा कराने की माँग की। रविशंकर प्रसाद ने प्रधानमंत्री और गृह मंत्री को स्पष्टीकरण देने को कहा | समाजवादी पार्टी के नेता मोहन सिंह ने भी कहा कि गृह मंत्री चिदंबरम को सदन में तुरंत स्पष्टीकरण देना चाहिए परन्तु कांग्रेस नेता अश्विन कुमार विपक्षी दलों पर जान बूझकर सदन की कार्यवाही को रोकने का प्रत्यारोप लगा दिया |

Comments (Leave a Reply)