४५० अरब की गड़बड़ी थी निर्यात आंकड़ों में, सरकार ने स्वीकारा

Published: Monday, Dec 12,2011, 09:22 IST
Source:
0
Share
UPA Govt, Export - Import, IBTL

पहले ही नित नए भ्रष्टाचार और घोटालों से घिरी यूपीए सरकार ने स्वीकार किया है कि इस वर्ष की रिपोर्ट में निर्यात के आंकड़े झूठे थे | असली आंकड़े दिखाए गए आंकड़ों से ९ अरब डॉलर (लगभग ४५० अरब रुपये) कम थे | यानी भारत ने जितने का निर्यात किया, सरकारी रिपोर्ट में उससे ४५० अरब अधिक दिखलाया गया था |

व्यापार सचिव राहुल खुल्लर ने बतलाया की कंप्यूटर में गड़बड़ी के चलते ऐसा हुआ | महीनों का निर्यात और व्यापार घाटा दोबारा परिकलित करना पड़ा | खुल्लर ने कहा कि कितने लोग आके बताते हैं कि हमसे भूल हो गयी है, पर हमने बताया है और इसमें कोई शर्म की बात नहीं है | निर्यात वृद्धि दर अनुमान से कम रहने के कारण व्यापार घाटा बढ़ कर ९ अरब डॉलर हो गया है | यह आंकड़ा उसी दिन आया जिस दिन सरकार ने आर्थिक विकास की अनुमानित वार्षिक दर को ९ प्रतिशत से घटा कर ७.५ प्रतिशत किया |

सरकार की स्वीकारोक्ति वाणिज्य समाचारपत्रों द्वारा आंकड़ों में भूल होने के अनुमान लागाये जाते रहने के महीनों बाद आई है | जबकि औद्योगिक विकास दर और अन्य मानक आर्थिक मंदी की ओर संकेत कर रहे थे, सरकार की रिपोर्ट जुलाई में ८२% की निर्यात वृद्धि दिखा रही थी | इस कारण भी रिपोर्ट के आंकड़ों पर संदेह उत्पन्न हुआ था | खुल्लर ने आगे बताया कि अप्रैल ने नवम्बर के बेच निर्यात १९३ अरब डॉलर का हुआ पर भारत का व्यापार घटा फिर भी १५५-१६० डॉलर रहने की संभावना है |

Comments (Leave a Reply)