भाजपा का होना भी भारत का अपमान - रेणुका चौधरी की अशोभनीय टिप्पणी

Published: Tuesday, Nov 15,2011, 10:22 IST
Source:
0
Share
रेणुका चौधरी, राहुल गाँधी, IBTL

कांग्रेस प्रवक्ता और पूर्व केंद्रीय मंत्री रेणुका चौधरी ने देश के प्रमुख विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी के सम्बन्ध में नितांत अशोभनीय टिप्पणी की है | वस्तुतः हुआ यह कि कल राहुल गाँधी उत्तर प्रदेश में चुनाव प्रचार के लिए गए थे | "एंग्री यंग मैन" कि छवि बनाने के लिए आतुर राहुल ने उत्तर प्रदेश के लोगों को "कब तक महाराष्ट्र में जाकर भीख मांगते रहोगे", ऐसा बोल दिया | भाजपा ने इसे उत्तर प्रदेश का अपमान बताया | बसपा ने भी इसकी निंदा की | सामान्य रूप से राहुल गाँधी की अनुभवहीनता और अपरिपक्वता को देखते हुए इस टिप्पणी को अनदेखा कर दिया जाता परन्तु अपने युवराज की चौतरफा निंदा से बौखलाई कांग्रेस ने इसके उत्तर में अपनी प्रवक्ता रेणुका चौधरी को उतारा | उत्तर में रेणुका ने भाजपा के होने को ही भारत का अपमान बता डाला | वे यहीं नहीं रूकीं |

उन्होंने आगे कहा कि अपमान की बात वे करें जिनका कुछ सम्मान हो | रेणुका को ये भी ध्यान नहीं रहा कि जिस राजनैतिक दल के होने को ही वे देश का अपमान कह रही हैं, उस राजनैतिक दल को भारत की जनता ने लगातार ३ लोकसभा चुनावों में सबसे बड़ा दल बना कर भेजा और ६ वर्ष तक उस दल ने भारत की बाग डोर संभाली | आज भी भारत के ९ प्रदेशों की जनता उस दल को सत्ता सौंपे हुए है | रेणुका ये भी भूल गयी कि स्वयं यूपीए सरकार की ही रिपोर्ट के अनुसार विकास के २०-सूत्री मापदंडों पर भारत के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले शीर्ष १० राज्यों में से केवल एक कांग्रेस शासित राज्य (आंध्र प्रदेश) था जबकि भाजपा एवं एनडीए शासित गुजरात, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, झारखण्ड, पंजाब, ये सभी शीर्ष १० में शामिल थे | Financial Express

उल्लेखनीय है कि रेणुका चौधरी २००९ में भारत की महिला एवं बाल कल्याण मंत्री रहते हुए महिलाओं को "पब भरो" का नारा दे चुकी हैं | जब मंगलौर में कुछ युवतियों की पब में पिटाई हुई थी, तब रेणुका ने भारत की बहु, बेटियों से "पब भरने" का आह्वान किया था | स्वयं उनकी छोटी बेटी तेजस्विनी चौधरी ने इस अभियान का नेतृत्व भी किया था | रेणुका ने उस समय मंगलौर की तुलना तालिबान से की थी जिसके लिए न्यायालय ने पुलिस को उनके विरुद्ध शिकायत दर्ज करने का आदेश दिया था | इससे पहले १९९३ में रेणुका पर एक पुलिस कर्मी के साथ उनकी गाड़ी रोके जाने पर मारपीट करने के सम्बन्ध में भी आरोप दर्ज  हुआ था | यही नहीं, पचासों हज़ार करोड़ की कर चोरी के आरोपी हसन अली के पूर्व सहयोगी काशीनाथ तापुरिया की माने तो रेणुका चौधरी ने २००२ में हसन अली खान से सवा करोड़ की हीरों की भेंट भी स्वीकार की थी | Economic Times

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह तो अपनी अशोभनीय टिप्पणियों के लिए कुख्यात हैं ही, कांग्रेस के ही बेनीप्रसाद वर्मा ने लगभग २ वर्ष पहले पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को 'नीच' कहा था जिस पर भरी संसद में स्वयं प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को देश से क्षमायाचना करने पर विवश होना पड़ा था | Zee News कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गाँधी स्वयं गुजरात के निर्वाचित मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी को मौत का सौदागर कहने के लिए चुनाव आयोग की फटकार झेल चुकी हैं परन्तु कांग्रेस के नेता अपनी आदत और प्रवित्ति के आगे विवश प्रतीत हो रहे हैं |

IBTL

Comments (Leave a Reply)