दिग्विजय का अन्‍ना पर सबसे तीखा वार! साथ पागलखाने चलने की सलाह

Published: Sunday, Oct 09,2011, 13:21 IST
Source:
0
Share
दिग्विजय, अन्‍ना, पागलखाने

नई दिल्‍ली. कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने एक बार फिर अन्ना हजारे पर तीखा हमला बोला है। अन्‍ना हजारे को मानसिक संतुलन की जांच कराने की सलाह देते हुए उन्होंने कहा है कि बीजेपी अन्ना को राष्ट्रपति पद का सब्जबाग दिखा रही है।
 
दिग्विजय ने कहा कि बीजेपी ने अन्ना को राष्ट्रपति पद का सपना दिखाया है कि उन्हें अगले राष्ट्रपति चुनाव में सर्वदलीय उम्मीदवार के तौर पर पेश किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अन्ना बीजेपी के बहकावे में आ गए हैं और बीजेपी के इशारे पर काम कर रहे हैं।
 
अन्ना पर अपने लगातार हमलों के लिए जाने जाने वाले दिग्विजय ने यह भी कहा, 'अब तक मुझे पागलखाने भिजवाने की सलाह देने वाले अन्ना को चाहिए कि वह भी मेरे साथ चलें। वहां मेरे साथ-साथ उनकी भी जांच हो जाए ताकि पता चले कि किसका दिमाग खराब है और किसका सही।'
 
अन्ना के भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन के पीछे किसका हाथ है, इस पर कई तरह के सवाल उठते रहे हैं। अन्ना हजारे ने कांग्रेस के नेताओं के बयान पर कहा था कि उनके बारे में जो लोग कह रहे हैं कि आंदोलन में बीजेपी या आरएसएस की भीड़ थी तो उन्हें मेंटल अस्पताल में भेजना चाहिए।
 
दिग्विजय ने कहा, 'अगर अन्‍ना हजारे चाहते हैं कि दिग्विजय सिंह के मानसिक संतुलन की जांच हो तो वो भी मेरे साथ चलें। वहां उनकी भी जांच हो जाए और मेरी भी जांच हो जाए।'
 
कांग्रेस जहां एक तरफ अपने नेताओं से अन्‍ना हजारे पर नए सिरे से हमले करवा रही है तो दूसरे नेताओं को उनसे मिलने भेजकर उन्हें मनाने की कोशिश कर रही है। महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष माणिकराव ठाकरे ने पार्टी की ओर से अन्ना के गांव जाकर उनसे मुलाकात की और उन्‍हें फूल भेंट किया है।
 
मनाने की कोशिश
ठाकरे अन्ना हजारे के गांव रालेगण सिद्धि जाकर उनसे मिले। ठाकरे अन्ना के लिए फूलों का गुलदस्‍ता ले गए थे। माना जा रहा है कि उन्होंने अन्ना से मुलाकात कर उनसे चुनावी राजनीति में बीजेपी का पक्ष लेते न दिखने की गुजारिश की। सूत्रों के मुताबिक उनसे ठाकरे ने कहा कि कांग्रेस पार्टी और यूपीए सरकार लोकपाल बिल संसद के शीत सत्र में लाने की पूरी कोशिश कर रही है। इसलिए अभी से कांग्रेस के खिलाफ चुनावी मुहिम शुरू करना ठीक नहीं होगा।
 
बीजेपी की सफाई
बीजेपी ने दिग्विजय के आरोपों को बेबुनियाद करार दिया है। बीजेपी नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा है कि कांग्रेस बेतुके आरोप लगाना बंद करे। उन्होंने कहा, ' अन्ना को राष्ट्रपति पद की पेशकश करने का कोई सवाल ही नहीं है। पता नहीं, दिग्विजय कहां से ऐसी बातें ले आते हैं।' नकवी ने कहा कि कांग्रेस और दिग्विजय सिंह को ऐसे निराधार आरोपों से कुछ हासिल नहीं होगा। ओसामा बिन लादेन की मौत पर स्यापा करने और अन्ना के खिलाफ बेतुके आरोपों की बौछार करने की नीति इस देश में नहीं चलेगी।

Comments (Leave a Reply)