12 घंटे में 540 अन्ना समर्थक बीमार : रामलीला मैदान

Published: Sunday, Aug 21,2011, 09:42 IST
Source:
0
Share
अन्ना, बीमार, दूषित खाना

यहां बने हेल्थ सेंटर में इलाज के लिए आ रहे बीमार लोगोंकी तादाद में लगातार इजाफा हो रहा है। ज्यादातर लोगऐसे हैं , जो रामलीला मैदान में आने के बाद बीमार हुए हैं।ऐसे लोग उलटी , दस्त , बुखार आने , चक्कर आने , जीघबराने जैसी शिकायतें लेकर आ रहे हैं। मरीजों की बढ़तीतादाद को देखते हुए हेल्थ सेंटर में तैनात डॉक्टर भीचिंतित हैं। डॉक्टरों का कहना है कि ज्यादातर लोगप्रदूषित पानी पीने , दूषित खाना खाने और मच्छरों के काटने की वजह से बीमार हो रहे हैं।

रामलीला मैदान के एक कोने में बने हेल्थ सेंटर पर डॉक्टरों की टीम को लीड कर रहे दिल्ली कैंसर फाउंडेशन केअध्यक्ष डॉ . राजीव छिब्बर और फिजिशियन डॉ . ए . पी . सिंह ने दोपहर 3 बजे के करीब बताया कि पिछले 12घंटों के दौरान यहां 540 मरीज आ चुके हैं। उनमें से 20 लोगों को एलएनजेपी हॉस्पिटल में रेफर कर दिया गया।चार लोगों की हालत ज्यादा गंभीर थी। उन्हें पहले यहीं पर फर्स्ट एड दी गई और उसके बाद उन्हें भी हॉस्पिटलमें भर्ती करा दिया गया। एक अन्य बुजुर्ग महिला की हालत भी ज्यादा खराब थी , लेकिन उस समय डॉक्टर वहींपर उनकी देखभाल कर रहे थे।

डॉक्टरों ने बताया कि शुक्रवार की रात के बाद से मरीजों की तादाद तेजी से बढ़ती जा रही है। ज्यादातर मरीजडायरिया और बुखार से पीड़ित हैं। कइयों के शरीर में पानी और शुगर की कमी थी। ऐसे लोगों को ड्रिप चढ़ाईगई। डॉक्टरों ने आशंका जताई है कि यहां जो पीने के पानी के टैंकर आ रहे हैं और पानी के जो पाउच बांटे जा रहेहैं , शायद उनमें प्रदूषित पानी हो सकता है , जिसे पीकर लोग बीमार हो रहे हैं। इसके अलावा लगातार बदल रहेमौसम का भी प्रतिकूल असर पड़ रहा है। हो सकता है जो खाना लोगों ने खाया , वह भी ठीक नहीं हो। चूंकि यहमच्छरों का ब्रीडिंग सीजन भी है और बारिश के बाद यह जगह इसके लिए बहुत माकूल बन गई है , ऐसे में यहांबहुत मच्छर भी हो गए हैं।

डॉक्टरों का कहना था कि एमसीडी को यहां लगातार फॉगिंग करनी होगी , ताकि मच्छरों को पनपने से रोका जासके। डॉक्टरों ने लोगों से मिल रहे सहयोग की भी भरपूर सराहना की। उन्होंने बताया कि मरीजों की तादादबढ़ने के बाद दवाइयां कम पड़ रही थीं , इसलिए हमने मीडिया के जरिए लोगों को इस बारे में बताकर उनसेमदद की अपील की थी , जिसके बाद सैकड़ों लोग दवाइयां लेकर यहां पहुंच गए और अब जरूरत से ज्यादादवाइयां हो गई हैं।

गौरतलब है कि इस हेल्थ कैंप में 35 डॉक्टरों की टीम लगी हुई है , जिनमें नर्सिंग स्टाफ भी शामिल हैं। कई अन्यडॉक्टर भी लगातार यहां सहयोग के लिए आ रहे हैं। यहां तैनात ज्यादातर डॉक्टर बड़े सरकारी और प्राइवेटअस्पतालों से जुड़े हुए हैं , लेकिन अन्ना को समर्थन देने के लिए वे अपना सब काम छोड़कर स्वेच्छा से यहां आएहैं। इनमें कुछ महिला डॉक्टर और नर्सिंग सुपरिंटेंडेंट भी शामिल हैं।

Comments (Leave a Reply)