प्रणब को राष्ट्रपति बनाना राष्ट्रीय अपमान - राम जेठमलानी

Published: Sunday, Jul 08,2012, 10:26 IST
Source:
0
Share
pranab mukherjee, president election 2012, mulayam singh, shiv sena, emergency, sanjay gandhi, bal thakre, ibtl hindi

वरिष्ठ अधिवक्ता राम जेठमलानी ने कहा है कि प्रणब मुखर्जी राष्ट्रपति पद के योग्य नहीं हैं। उन्होंने कहा कि दादा को राष्ट्रपति बनाना राष्ट्रीय अपमान होगा। राष्ट्रपति पद के लिए संप्रग के उम्मीदवार व पूर्व वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी पर आरोपों की बौछार करते हुए जेठमलानी ने कहा कि प्रणब ने देश में आपातकाल लगाने में संजय गांधी का साथ दिया था।

जेठमलानी के अनुसार जब देश में आपातकाल की घोषणा की गई तो मुखर्जी ने मंत्री पद से त्यागपत्र देने के बजाय आपातकाल लागू करने में अहम भूमिका निभाई। वरिष्ठ अधिवक्ता ने सवाल उठाया कि इस प्रकार संविधान को कुचलने वाले किसी व्यक्ति को एक संवैधानिक पद पर कैसे बैठाया जा सकता है।

जेठमलानी ने कहा कि उन्होंने तृणमूल कांग्रेस की नेता ममता बनर्जी, सपा नेता मुलायम सिंह व शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे को पत्र लिखकर लोकतंत्र की हत्या करने वाले ऐसे व्यक्ति को राष्ट्रपति पद के लिए वोट नहीं देने की अपील की है।

पीए संगमा को साफ छवि का उम्मीदवार बताते हुए जेठमलानी ने कालेधन के मुद्दे पर केंद्र सरकार को भी घेरा। उन्होंने कहा कि जर्मनी बिना शर्त ऐसे भारतीयों की सूची देने को तैयार था, जिन्होंने अपना कालाधन स्विस बैंक में जमा कर रखा है, लेकिन सरकार को विदेशों में जमा कालाधन वापस लाने में कोई रुचि नहीं है।

जागरण

Comments (Leave a Reply)