भारत के लिए शरियत का आह्वान करती वेबसाइट, ३ मार्च को इस्लामिक क्रांति की घोषणा

Published: Sunday, Feb 12,2012, 09:35 IST
Source:
0
Share
भारत के लिए शरियत, ३ मार्च इस्लामिक क्रांति, shariya for india, islamic revolution March 3, ban bollywood, no diwali, no statues, IBTL

भारत में शरियत लगाने का आह्वान करती एक वेबसाइट इन्टरनेट पर अस्तित्व में आई है | www.shariah4hind.com नाम की इस वेबसाइट का लक्ष्य भारत में इस्लामिक साम्राज्य एवं शरियत का क़ानून लागू करना है | वेबसाइट अमेरिका के अटलांटा से चलायी जा रही है और वेबसाइट पर संपर्क के लिए ब्रिटेन में प्रतिबंधित शरियत अदालत के प्रबंधक शेख अन्जेम चौधरी का नाम है | वेबसाइट कहती है कि कुरान के अनुसार गैर-मुस्लिम मुस्लिमों पर शासन नहीं कर सकते और इस्लाम सेकुलरिस्म की आज्ञा नहीं देता | भारतीय उपमहाद्वीप को उसके "गौरवशाली इस्लामिक शासन" के दिनों तक लौटाने के लिए शरियत लगाना आवश्यक है | साईट कहती है कि इस्लामिक कानून १४०० साल पुराने हैं और भारतीय संविधान उनके सामने शर्मिंदा होने लायक है | साईट पर उत्तर प्रदेश में चल रहे चुनावों के बहिष्कार का भी आह्वान है | "चुनाव का बहिष्कार करो, शरियत लगाओ" का नारा दिया गया है | इसके अलावा भारत के राजनैतिक दलों के विरुद्ध फतवा भी जारी किया गया है और भारत के संविधान को उखाड़ फेंकने के लिए ३ मार्च २०१२ को इस्लामिक उम्माह को इकठ्ठा होने को कहा गया है |

In Eng: Shariya for India, website calls for Islamic revolution on March 3rd

hindu-practices-calls-for-removal-of-all-statues-of-deities

ज्ञात हो कि भारत में पहले से ही मुस्लिमों को विशेष अधिकार प्राप्त हैं और उनके अपने नागरिक क़ानून हैं जिसके अंतर्गत उन्हें कुरान सम्मत ४ शादियाँ करने, उसी तरह तलाक़ लेने आदि की सुविधाएं प्राप्त हैं परन्तु ये साईट हिन्दुओं एवं अन्य नागरिकों पर भी शरियत लगाने की बात करती है | साईट पर एक पेज पर सभी मूर्तियाँ तोड़ने का भी आह्वान हैं क्योंकि वह गैर-इस्लामिक है | हालांकि साईट कहती है कि शरियत लगने के बाद भी हिन्दू अपने घर में पूजा कर पाएंगे पर सार्वजानिक स्थानों पर कोई मंदिर, मूर्तियाँ नहीं रहेंगी | साईट पर भगवान् शिव की शीश कटी हुई एक मूर्ति का भी चित्र है जो इस आन्दोलन के उद्देश्यों का परिचय देने के लिए पर्याप्त है |

shariya-india-website-calls-for-islamic-revolution

शेख अन्जेम की वेबसाइट पर जारी प्रेस रिलीज़ में वे बातें लिखी गयी हैं जो हिन्दुओं और सिखों को माननी होंगी जब भारत में शरिया आ जायेगा | इसके अंतर्गत हिन्दुओं, सिखों को जजिया कर देना होगा (जिसके बदले में मुस्लिम उनकी रक्षा करेंगे), मंदिर आदि बनाने की सख्त मनाही होगी, हिन्दुओं को सभा करने की मनाही होगी, दिवाली आदि त्यौहार मनाने पर प्रतिबन्ध होगा क्योंकि इस्लाम 'बुरी हरकतें' स्वीकार नहीं करता, हिन्दुओं के घर मुस्लिम घरों से ऊंचे नहीं हो सकेंगे एवं उन्हें अलग कपडे पहनने होंगे ताकि वे पहचाने जा सकें |

the-end-of-bollywood-shariah4hind

 

Comments (Leave a Reply)