उदाहरण है विवेक ओबेरॉय का फोर्ब्स की लोक-कल्याण नायक सूची पर होना

Published: Friday, Dec 30,2011, 21:45 IST
Source:
0
Share
Shiv Nadar, Azim Premji, Forbes, Vivek Oberoi bats for Hindu pilgrims, Manav Aastha Foundation, Yashodhara Oberoi Foundation, Vivek Oberoi NGO, GMR Varalakshmi Foundation, IBTL

२०११ भारत के लिए एक उथल पुथल भरा वर्ष सिद्ध हुआ - भले ही वह राजनैतिक परिदृश्य हो, अथवा आर्थिक | परन्तु इस बीच कुछ सुखद बातें भी हुई | सुखद बातों का स्मरण करें तो सबसे पहले २८ वर्षों बाद विश्व कप की ट्रॉफी उठाने का गौरवशाली क्षण सबसे पहले स्मरण आता है, परन्तु, कुछ और भी सुखद बातें रहीं |

ऐसी ही सुखद परन्तु जनता की स्मृतिपटल से धूमिल हो गयी बातों में से एक थी ४ भारतीयों का फोर्ब्स एशिया की 'लोक कल्याण के महानायक' सूची में शामिल होना | ये चार भारतीय थे विप्रो के अजीम प्रेमजी, एचसीएल के शिव नादर, जीएमआर ग्रुप के मल्लिकार्जुन राव, एवं फिल्म अभिनेता विवेक ओबेरॉय |

शिव नादर एवं अजीम प्रेमजी निर्धन बच्चों को शिक्षा उपलब्ध करवाने के लिए इस सूची में स्थान बना सके | शिव ग्रामीण क्षेत्रों के प्रतिभाशाली बालकों की शिक्षा दीक्षा का व्यय वहन करते हैं एवं उन्हें आवासीय विद्यालयों में पढ़ने भेजते हैं | प्रेमजी ने बच्चों की शिक्षा, स्वास्थ्य एवं पोषण के लिए एक न्यास बनाया है जिसे उन्होंने २ अरब डॉलर दान किए हैं (अजीम प्रेमजी भारत में खोलेंगे नि:शुल्क शिक्षा वाले १३०० विद्यालय) वहीं राव ने ३४ करोड़ डॉलर की धनराशि निर्धन युवाओं को शिक्षित एवं प्रशिक्षित करने के लिए कार्यरत जीएमआर वरलक्ष्मी न्यास को दान किए | न्यास भारत में २० स्थानों एवं नेपाल में २ स्थानों पर अपना कार्य करता है |

व्यापारिक घरानों के शिखर पुरुषों के लिए तो इस प्रकार के लोक कल्याण के कार्यों में संलग्न होने के अनेक उदाहरण उपलब्ध हैं, परन्तु इस सूची में चौकाने वाला नाम रहा सिने स्टार विवेक ओबेरॉय का | सामान्यतः सिने स्टार को लोग अपनी सफलता एवं वैभव के बारे में ही सोचने वाला स्वार्थी किस्म का व्यक्ति मानते हैं जिसे निर्धनों की व्यथा से कोई लेना देना नहीं होता, परन्तु विवेक एक प्रशंसनीय अपवाद के रूप में उभर कर सामने आये | भारत, जहाँ ४० पार के राजनेता गर्व से स्वयं को युवा भारत का भविष्य बतलाते हैं, वही ३४ वर्ष के विवेक अब तक इतना लोककल्याण कर चुके हैं कि वे एशिया के उल्लेखनीय लोक कल्याणकारियों की इस सूची में स्थान बना पाए | विवेक ने अब तक स्वयं ३० लाख डॉलर की धनराशि शिक्षा, स्वास्थ्य एवं आपदा राहत के लिए दान की है एवं २.५ करोड़ डॉलर की धनराशि इसी कार्य के लिए इकट्ठी करवाई है | विवेक के लोक कल्याण कार्यों के विषय में यहाँ पढ़ें

१. Vivek Oberoi bats for Hindu pilgrims, criticising government, Manav ...
२. Vivek Oberoi is a key sponsor of the school and its 1,750 underprivileged ...

सूची में पूरे एशिया से ४८ नाम थे एवं लगातार चौथे वर्ष जारी हुई इस सूची का उद्देश्य लोगों का ध्यान इन उल्लेखनीय लोगों एवं उनके कार्यों की ओर आकर्षित करना था ताकि बाकी लोगों को भी लोककल्याण हेतु प्रेरित किया जा सके |
 

Comments (Leave a Reply)