बाबा रामदेव ने जमकर किया कांग्रेस विरोधी प्रचार: हिसार उपचुनाव

Published: Thursday, Sep 29,2011, 15:21 IST
Source:
0
Share
बाबा रामदेव, हिसार, कांग्रेस, विरोधी प्रचार, शहीद राजबाला

योगगुरू बाबा रामदेव ने देशवासियों का आह्वान किया कि वे आगामी लोकसभा व राज्य विधानसभा के चुनावों में भ्रष्ट, बर्बर, तानाशाह, अलोकतांत्रिक व जनविरोधी कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवारों का जमकर विरोध करें। जिससे लोकसभा व विधानसभाओं में उनका एक भी प्रतिनिधि चुनाव जीतकर न पहुंच पाएं। बाबा रामदेव मंगलवार को गांव भटाना में शहीद राजबाला को श्रद्धाजंलि देने के लिए आयोजित सभा को संबोधित कर रहे थे।

लोकसभा में प्रतिपक्ष की नेता सुषमा स्वराज हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला, भाजपा महिला मोर्चा की अध्यक्ष एवं सांसद स्मृति ईरानी, पूर्व सांसद किशन सिंह सांगवान व सुधा यादव भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष कृष्ण पाल गुज्जर, सोनीपत की विधायक कविता जैन, भाजपा मीडिया प्रभारी राजीव जैन, आचार्य बालकिशन, सुधा मलिक, पूर्व विधायक नरेश यादव, सुखबीर फरमाणा, आजाद नेहरा सहित बड़ी संख्या में राजनेता व सामाजिक कार्यकर्ता उपस्थित थे।

बाबा रामदेव ने कहा कि भटाना की यह भूमि अमर हो गई है, क्योंकि यहां की राजबाला ने भ्रष्टाचार व कालेधन की वापसी को लेकर अपनी शाहदत दी है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार को राजबाला को शहीद का दर्जा देना चाहिए। बाबा रामदेव ने कहा कि पिछले 65 वर्षों से अधिकतर समय कांग्रेस सत्ता में रही है।

इससे स्पष्ट है कि विदेशी बैंकों में जमा 7 सौ लाख करोड के कालेधन में अधिकतर हिस्सा उन्हीं के लोगों का है। उन्होंने कहा कि कालाधन वापस लाना हमारा लक्ष्य है, किन्तु कांग्रेस इस आंदोलन को कुचलना चाहती है। उन्होंने कहा कि आज 121 करोड़ का भारत जागरूक हो गया है और वह सरकार के कूचक्रों में आने वाला नहीं है। उन्होंने कहा कि राजबाला ने जिस लिए बलिदान दिया है। वह लक्ष्य प्राप्त किए बिना आंदोलन समाप्त नहीं होगा।

उन्होंने परिजनों को सांत्वना देते हुए कहा कि पतंजलि योगपीठ राजबाला की स्मृति को चिरस्थाई बनाने के लिए गांव में एक भव्य स्मृतिस्थल का निर्माण करेगा। श्रद्धाजंलि सभा को संबोधित करते हुए लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज ने कहा कि राजबाला की पुलिस के लोगों ने बर्बर हत्या की है। उन्होंने कहा कि मृत्यु शाश्वत है। प्राकृतिक मृत्यु, दुर्घटना में मृत्यु व प्राकृतिक आपदाओं से यदि व्यक्ति की मृत्यु हो जाए तो परिवार के लोग समय बीतने पर दुख हो भूल जाते हैं, किन्तु राजबाला की तो सरेआम हत्या की गई है।

उन्होंने कहा कि हत्या क्यों हुई, क्योंकि राजबाला स्वामी रामदेव की अनुयायी थी और भ्रष्टाचार व कालेधन वापस लाने के लिए बाबा द्वारा किए गए आंदोलन में शामिल थी। यह बात केन्द्र सरकार को कैसे बर्दाश्त होती, क्योंकि वह पूरी तरह भ्रष्टाचार में लिपटी है। उन्होंने कहा कि घटना के अगले दिन वे राजबाला से मिलने अस्पताल गई। जहां उन्हें पूरी जानकारी मिली। जिसे उन्होंने संसद में भी उठाया।

इसके बावजूद केन्द्रीय मंत्री कपिल सिब्बल कहते हैं कि लाठीचार्ज नहीं हुआ। यदि लाठीचार्ज नहीं हुआ तो राजबाला कैसे मारी गई। उन्होंने कहा कि राजबाला का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। उसके बलिदान से कांग्रेस की भ्रष्ट सरकार का सर्वनाश प्रारंभ को चुका है। उन्होंने बाबा रामदेव को कहा कि वे अपना संघर्ष जारी रखें और भाजपा उनके साथ है। सभा को संबोधित करते हुए इनेलो प्रमुख ओमप्रकाश चौटाला ने कहा कि देश को जब-जब जरूरत पड़ी है। हरियाणा के लोगों ने आगे बढ़कर बलिदान दिया है। भ्रष्टाचार व कालेधन के मामले में भी राजबाला ने बलिदान देकर प्रदेश की परंपरा को आगे बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि राजबाला का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। लाला लाजपत राय की तरह उनका बलिदान भी कांग्रेस सरकार की कफन की आखिरी कील साबित होगा। इस अवसर पर स्मृति ईरानी, आचार्य बालकिशन व राजबाला की पुत्रबधु एडवोकेट ने भी सभा को संबोधित किया।

Comments (Leave a Reply)