ibtl columns

  • भारत इतिहास
  • विभाजन के पश्चात अयोध्या : कारसेवकों की निर्मम हत्या एवं धर्मनिरपेक्षता के नाम पर झूठ ...

    Friday, Dec 07,2012, 13:22 IST .

    रामलला का आगमन से लेकर कारसेवकों की निर्मम हत्या तक : १९४९ के पश्चात जब भारत ब्रिटिश साम्राज्य से स्वतंत्र हुआ मुस्लिमों ने इस्लाम के नाम पर जिन्ना के नेतृत्व मे भारत भू को विभाजित किया, जन्मस्थान के पास हिन्दुओं की संख्या उमडने लगी, दिसंबर २२, १९४९ की मध्य रात्रि श्री राम वहां प्रकट हुए, जिसकी सहमति उस रात वहां ड्यूटी पर तैनात एक मुस्लिम कांस्टेबल ने दी। इस पर कुछ हिंदू वहाँ..

  • राम राज्य से मुग़ल शासन, मुग़ल शासन से धर्मनिरपेक्ष सरकार : रामलला की उपासना निरंतर जारी ...

    Thursday, Dec 06,2012, 12:28 IST .

    इसके पश्चात फिर से राम भक्ति की परंपरा चलती रही, कई साहित्यिक एवं धार्मिक श्रोत अयोध्या महात्म्य में नज़र आते हैं जो १२ या १३ शताब्दी मे लिखा गया। अयोध्या महात्म्य में अनेकों जगह ऐसी कई बातें हैं, जो अयोध्या को महानतम मोक्ष मुक्तिदायक बनाते हैं।

    In English :

  • अपराजेय अयोध्या, एक यात्रा ...

    Thursday, Dec 06,2012, 11:51 IST .

    अयोध्या अपने शाब्दिक अर्थ के अनुसार यह अपराजित है.. यह नगर अपने २२०० वर्षों के इतिहास मे अनेकों युद्धों व संघर्षो का प्रत्यक्ष दर्शी रहा है, अयोध्या को राजा मनु द्वारा निर्मित किया गया और यह श्री राम जी का जन्मस्थल है। इसका उल्लेख प्राचीन संस्कृत ग्रंथों जिसमे रामायण व महाभारत सम्मिलित हैं, में आता है। वाल्मिकि रामायण के एक श्लोक मे इसका वर्णन निम्न प्रकार है।