• deep, deepak, deepawali story, diwali pooja story, choti diwali story, krishna and 16000 queens

    दीप से दीप चलो जलाते, नहीं होगा अंधकार कभी...

    दीवाली को दीपोत्सव भी कहते हैं। ‘तमसो मा ’योतिर्गमय’ अर्थात् ‘अंधेरे से ज्योति यानी प्रकाश की ओर जाइए’ कथन को सार्थक करता है। दीवाली अंधेरे से रोशनी में जाने का प्रतीक है। कार्तिक मास की सघन काली अमावस्या की रात दीय..

  • why dhanteras celebration, dhanteras pooja method, health and wealth diwali, pooja, धनतेरस, दीपामालाएं, कार्तिक कृष्ण पक्ष

    धनतेरस पर करें समृद्धि और स्वास्थ्य के लिए पूजा ...

    दीवाली का त्योहार पांच दिन तक चलता है। इसकी शुरुआत होती है धनतेरस से। दीवाली से दो दिन पहले से ही यानी धनतेरस से ही दीपामालाएं सजने लगती हैं। धनतेरस धन-सम्पत्ति और अच्छी स्वास्थ्य के लिए मनाया जाता है। देवताओं को अमर करने के लिए भगवान विष्णु&nbs..

  • shri mahishasurmardini strotam, sonarika, devon ke dev mahadev, kaali, mohit raina, mahishasur, life ok

    श्री महिषासुरमर्दिनी स्तोत्रम्


              अयि गिरिनन्दिनि नन्दितमेदिनि विश्वविनोदिनि नन्दनुते ॥
              गिरिवरविंध्यषिरोधिनिवासिनि विष्णुविलासिनि जिष्णुनुते ।
    &nbs..

  • ved, upanishad ganga, Aurangzeb, Dara Shikoh, ved in persian, Miyan Mir, Baba Laaldaas, Upanishads, chinmaya mission

    वेद, भारतीय दर्शन और संस्कृति का मूल आधार

    वेद क्या हैं? भारतीय दर्शन और संस्कृति का मूल आधार, वेद हैं। सबको अपने में समाहित करने की हमारी प्रकृति और सबके लिए सदा द्वार खुले रखने की भावना को इस प्रकरण में दिखाया गया है। वेदों का ज्ञान हमें अपना व्यक्तिगत जीवन शुद्ध करने, समाज को ऊंचा उठा..

  • Upanishad Ganga - (Full) Episode 4, Upanishad Ganga Ashtavakra Episode, bandi, Purpose of Knowledge, Knowledge is power

    शास्त्र को शस्त्र अथवा हथियार ना बनाओ - अष्टावक्र

    ज्ञान ही शक्ति है। इसलिए ज्ञान का उद्देश्य "सभी का समान रूप से लाभ" होना चाहिए। लेकिन अगर ज्ञान किसी के अहंकार का साधन बन जाये, किसी के ध्वंस का हथियार बन जाये, तो ज्ञान का वास्तविक उद्देश्य नष्ट हो जाता है। ज्ञान को ग़लत अर्थ में समझे..

  • jago bharat, jano bharat, swami vivkeanand, 11 sep 1983, dharm parishad,

    जागो भारत, जानो भारत - स्वामी विवेकानंद

    "अगर भारत को जानना है तो विवेकानंद पढ़िये... उनके विचारों में केवल सकारात्मकता है, नकारात्मक कुछ भी नहीं...! गुरुदेव रवींद्रनाथ ने कहा था स्वामी विवेकानंद के बारे में!" - अरुण करमरकर

    1888 से 1892 तक संन्यासी विवेकानंद ने ..

  • revolution. the zero, human existence, indian history, indian mythology,

    “शून्य” से नयी क्रांति... पुनः सृजनात्मक “शून्य”

    अनादि काल से अब तक विश्व में समग्र मानव कल्याण के लिए बहुत से धर्मों, दर्शनों, राजनैतिक व्यवस्थाओं का प्रादुर्भाव हुआ है। कालांतर में एक एक करके अधिकांश विचार जो स्वयं मानव ने प्रतिपादित किये उन्हें स्वयं ही नकार दिया और एक ऐसे परिष्कृत विचार की..

  • The Sawan Calculus, Sandhya Jain, Surya Siddhanta, PancaSiddhantika, Varahamihıra, sandhya jain

    क्या हम उदारीकरण के मिथक रूपी 'कचरा' सोच से बाहर निकल पाएंगे : मानसून और पंचांग

    हिन्दू पंचांग के अनुसार श्रावण माह जो भाद्रपद के साथ मिलकर भारत मे मानसून की अवधि का निर्माण करता है, 4 जुलाई को प्रारम्भ हुआ, उसने 5 जुलाई को गर्मी से झुलसे मेरे शहर को बारिश से सराबोर कर दिया। क्या मानसून सही वक़्त पर आया या फिर देरी से, जैसा क..

  • guru purnima mahotsav sushree tanuja thakur, Guru Purnima message, ibtl, vms, vande matru sanskriti

    गुरु पूर्णिमा महोत्सव : सुश्री तनुजा ठाकुर

    नई दिल्ली, ०२ जुलाई, २०१२: 'गुरुपूर्णिमा के अवसर पर "उपासना हिन्दु धर्मोत्थान संस्थान" की संस्थापिका, सुश्री तनुजा ठाकुर ने गुरु पूर्णिमा के दिन का महत्त्व बताते हुए कहा कि गुरु पूर्णिमा का दिन सद्गुरु को कृतज्ञता व्यक्त करने का स्..

  • Shivaji coronation, Vedas, Balaji Avji Prabhu, Sisodias of Mewar, Kshatriyas, purest Rajput clan, Mahadeva, Siva, Bhavani, Gaga Bhatta, culture of India, ibtl

    भारतीय इतिहास की गौरवशाली गाथा है शिवाजी महाराज का राज्याभिषेक

    रायगढ़ में ज्येष्ठ शुक्ल त्रयोदशी तदनुसार 6 जून 1674 को हुआ छत्रपति शिवाजी महाराज का राज्याभिषेक हिंदू इतिहास की सबसे गौरवशाली गाथाओं में से एक है। सैकड़ों वर्ष विदेशियों के गुलाम रहने के पश्चात हिंदुओं को संभवतः महान विजयनगर साम्राज्य के बाद पहली..

  • पंचांग कैसे देखे, holi, diwali, deepwali, hindu calender, how to read panchang, hindu panchang, know hindu calender, indian calender

    कैसे जानें कब हैं अपने त्यौहार?

    समय के साथ साथ समाज बदलता है परन्तु जो अपना महत्व बनाए रखता है - वही परंपरा का प्रतीक बन जाता है। ऐसी ही कुछ बातों में से एक है हमारा पंचांग। माना आज सब कुछ बदल गया है, भले ही अबीर-गुलाल का वसंतोत्सव (होली) शराब पी कर कपड़े फाड़ कर, ना ना प्रकार ..

  • light energy, The Expansion of The Universe, gravity, Einstein, ibtl exclusive report,

    शक्ति का स्रोत पदार्थ से परे है : क्या संसार केवल भौतिक पदार्थों का या प्रकृति की ही रचना है?

    अधिकांश वैज्ञानिकों का मत है कि संसार केवल भौतिक पदार्थों का या प्रकृति की ही रचना है! उसके मूल में कोई ऐसी चेतन या विचारशील सत्ता नहीं है जिसे हम ईश्वर कह सके या जीव या आत्मा कहे!
     
    भारतीय तत्वदर्शन में इन शब्दों को वैज्ञानिक..

  • पांडवों, कुलदेवी, मां हथीरा देवी, pandav, pandavas, hathira devi, kuru dynasty, kuru land, kurukshetra, IBTL

    पांडवों की कुलदेवी मां हथीरा देवी

    पांडवों द्वारा कुरु भूमि पर धर्मरक्षा और न्याय के लिए महाभारत का भीषण युद्ध लड़ा गया। इस युद्ध में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका सुदर्शन चक्रधारी भगवान श्रीकृष्ण की थी। उन्होंने प्रत्येक विषम परिस्थिति से पांडवों को सचेत करके उनका मार्ग प्रशस्त किया। व..

  • दीपक, diya, lights, ghee ka deepak, candle, tanuja takur, hinduism, hindutva

    दीपक का प्रयोग करते समय इन खास बातो का ध्यान रखें, पूजा को अशुद्ध ना करें

    ...... घी के दीपक का प्रयोग करें और आधुनिक लाइट के दीपक या मोमबत्ती का उपयोग कर अपनी पूजा को अशुद्ध ना करें आज कल आधुनिक लाइट के दीपकों ने घरों में अपनी एक जगह बना ली है, जबकि घी के दीपक का प्रयोग दिन प्रतिदिन कम होता जा रहा है| मिट्टी का बना दी..

  • नींव, संस्कार, इमारत, मकान, संस्कार, sanskaar, ghar, neenv, makaan

    नींव के संस्कार पर इमारतें खड़ी होती हैं, मकान के संस्कार पर घर

    पिताजी ने दिल्ली में जमीन खरीदी थी। उस पर मकान बनाना था। दादी ने पूछा- "नींव की पूजा कैसे होगी?" पिताजी बोले-"हवन करवा देंगे। और क्या?" "नहीं रे! मकान की नींव डालने की विशेष पूजा होती है। तभी तो मकान का संस्कार बनता है। ..